तूफान के दौरान हुआ बच्ची का जन्म, नाम रखा 'फानी'...

भुवनेश्वर: ओडिशा सहित देश के तटीय इलाके चक्रवाती तूफान 'फानी' (Cyclone Fani) की चपेट में हैं। इस दौरान भुवनेश्वर में 32 साल की महिला ने आज सुबह 11:03 बजे रेलवे अस्पताल में एक बच्ची को जन्म दिया। इस बच्ची का नाम चक्रवाती तूफान 'फानी' के नाम पर रखा गया है। दरअसल, ये महिला एक रेलवे कर्मचारी है, जो कोच रिपेयर वर्कशॉप, मानेस्वर में सहायक के तौर पर काम करती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मां और बच्चा दोनों का स्वास्थ्य ठीक है। चक्रवाती तूफान 'फानी' ने अब भयंकर रूप धारण कर लिया है जिसे देखते हुए नौसेना और सेना को तैयार रखा गया है।

ओडिशा में इस समय 240-45 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल रही है और बारिश भी हो रही है। ओडिशा के तट को पार करने के साथ ही फानी पश्चिम बंगाल में दस्तक देगा। फानी के कारण पश्चिम बंगाल के कई जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार रात 9 बजे करीब फानी बंगाल के तटीय इलाकों से टकराएगा। चक्रवाती तूफान फानी के कारण सीएम ममता बनर्जी ने अगले 48 घंटे के लिए अपनी चुनावी जनसभाओं को रद्द कर दिया है। मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार रात 9 बजे करीब फानी बंगाल के तटीय इलाकों से टकराएगा।

चक्रवात 'फानी' का असर उत्तर प्रदेश, राजस्थान और उत्तराखंड में भी दिखने लगा है, यूपी के चंदौली जिले में आंधी-पानी व आकाशीय बिजली से 4 लोगों की मौत और सोनभद्र जिले में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक किशोर की मौत हो गई है। जबकि न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक फानी से ओडिशा में तीन लोगों की मौत हो गई है। जबकि फानी तूफान के कारण ओडिशा के कई इलाकों में बिजली गुल हो गई है, वहीं संचार सेवा भी ठप हो गई है। ओडिशा के पुरी में चक्रवाती तूफान फानी की वजह से भूस्खलन के बाद भारी बारिश हो रही हैं। फानी के खतरे को देखते हुए पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार प्रभावित राज्यों के संपर्क में है। उन राज्यों को हजार करोड़ से ज्यादा की राशि पहले ही मदद के तौर पर मुहैया कराई जा चुकी है।