शर्मनाक वारदात: 9 लोगों ने लड़की से किया गैंगरेप

दुमका: झारखंड के दुमका में लॉकडाउन में एक शर्मनाक वारदात सामने आई है। यहां लॉकडाउन के बाद गांव लौट रही इंटर की 16 वर्षीय छात्रा से 9 युवकों ने गैंगरेप किया। यह घटना 24 मार्च को गोपीकांदर के गड़ियापानी जंगल में हुई। गैंगरेप का खुलासा तब हुआ, जब किशोरी ने गोपीकांदर थाना पुलिस को अपना बयान दिया। छात्रा ने बताया कि मदद के लिए बुलाए गए एक दोस्त और उसके दोस्त ने रेप किया, फिर आठ अन्य युवक पहुंचे और गैंगरेप को अंजाम दिया। वह रातभर जंगल में बेहोश पड़ी रही।लॉकडाउन में शर्मनाक वारदात हुई , 9 लोगों ने लड़की से किया गैंगरेप, मरा समझ जंगल में छोड़ दिया।
खबरों के मुताबिक वह नाबालिग गोपीकांदर पुलिस स्टेशन के जंगली इलाके की रहने वाली है। बताया जा रहा है कि उस लड़की के साथ इस खौफनाक अपराध को उस वक्त अंजाम दिया गया । जब 24 मार्च को वह अपनी एक सहेली के साथ उसकी स्कूटी से अपने घर वापस लौट रही थी।दरअसल, वह जिस प्राइवेट हॉस्टल में रह रही थी वो लॉकडाउन की वजह से बंद हो गया था।
पीड़ित लड़की को उसकी सहेली ने करुडीह मोड़ पर उतार दिया था और पाकुड़ में अपने घर के लिए निकल गई थी।  जिसके बाद उस लड़की ने अपने पिता को फोन किया और करुडीह से उसे ले जाने के लिए कहा। लेकिन जब काफी देर तक उसके पिता उसे लेने नहीं आ पाए तो उसने अपने एक दोस्त विकी हंसदा को उसे ले जाने के लिए फोन किया।
जिसके बाद विकी लड़की को लेकर उसके गांव के लिए निकल गया। विकी ने सड़क के बजाय जंगल का रास्ता चुना तो उस लड़की ने इस बात का विरोध किया। इस पर विकी ने कहा कि अगर हम सड़क से गए तो पुलिस हमें रोक लेगी। जंगल में वह गड़ियापानी के पास रुक गया। जब लड़की ने पूछा कि उसने बाइक क्यों रोक दी तो उसने पेशाब का बहाना बना दिया।

लड़की से कुछ दूर जाने के बाद विकी ने अपने दोस्तों को फोन किया और कथित तौर पर उस लड़की का गैंगरेप किया। जिसके बाद वो सभी लोग लड़की को घायल अवस्था में छोड़कर भाग गया। लड़की को जब होश आया तो वह किसी तरह दूसरे गांव वालों की मदद से सड़क पर पहुंचने में कामयाब हुई। उसके बाद गोपीकांदर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई। एसपी वाईएस रमेश और डीआईजी संथाल परगना राजकुमार लकड़ा ने कहा कि इस केस में एक एसआईटी का गठन किया गया है. साथ ही दोषियों को पकड़ने के लिए छापेमारी जारी है।इस बीच लड़की को इलाज और मेडिकल जांच के लिए दुमका मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है। इस घटना में किसी तरह की गिरफ्तारी अभीतक नहीं हुई है