कोरोना पर भारत की बड़ी सफलता, वैज्ञानिकों ने खोज निकाली ये चीज

नई दिल्ली: दुनियाभर में हाहाकार मचाने वाले जानवेवा कोरोना वायरस को लेकर भारत को एक के बाद एक सफलता हासिल हो रही है। भारतीय वैज्ञानिकों ने कोरोना के आकार को खोज निकाला है, जिसके बाद माना जा रहा है कि यह उपलब्धि कोरोना से लड़ने में मददगार साबित होगी।
दरअसल, कोरोना वायरस से जुडी हर जानकारी का पता लगाने में लगे भारतीय वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता तब मिली, जब उन्होंने कोरोना के आकार का पता लगा लिया। वैज्ञानिकों ने माइक्रोस्कोपी के जरिये कोरोना के रूप का पता लगाया है और उसकी तस्वीर को भी जारी किया। जारी तस्वीर में देखा जा सकता है कि कोरोना एक बिंदु की तुलना में भी काफी सूक्ष्म है।
जानकारी के मुतबिक, वैज्ञानिकों ने भारत में कोरोना के पहले मरीज के जांच नमूनों से वायरस के रूप का पता लगाया। बता दें कि भारत में 30 जनवरी को कोरोना का पहला मरीज सामने आया था। जब उसकी जांच की गयी, तो गले की नली से मिले नमूने से मिले परिणाम को माइक्रोस्कोपी के जरिये देखा गया और उसकी तस्वीर ली जा सकी।
गौतलब है कि इसके पहले कोरोना के इलाज के लिए शोध में जुटे भारतीय वैज्ञानिको ने वायरस से लड़ने वाली 69 दवाओं की पहचान की। कोरोना के इलाज की दो दर्जन दवा पहले से ही परीक्षण के चरण में है, जबकि मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा क्लोरोक्वीन के भी बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं। शोधकर्ताओं की एक टीम के मुताबिक, कोरोना के इलाज में 70 दवाएं प्रयोग के तौर पर प्रभावी साबित हो सकती हैं। वैज्ञानिकों ने कहा कि कुछ दवाओं का उपयोग पहले से ही अन्य बीमारियों के इलाज में किया जाता रहा है।