लेखक व समाजसेवी सीए अरविंद अग्रवाल का निधन

सहारनपुर। सहारनपुर के वरिष्ठ समाजसेवी, लेखक सी ए श्री अरविंद अग्रवाल का अपने डीएसओ कंपाउंड स्थित निवास पर हृदय गति रुकने से निधन हो गया। वह 67 वर्ष के थे। उन्होंने आयकर संबंधी कई पुस्तकें भी लिखी। 
श्री अरविंद अग्रवाल को आज सुबह सीने में दर्द महसूस हुआ। चिकित्सकों को बुलाकर उनका उपचार कराया गया लेकिन उन्हंे बचाया नहीं जा सका। करीब सात बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार हकीकत नगर श्मशान घाट पर किया गया। मुखाग्नि उनके सुपुत्र आयकर एडवोकेट तुषार अग्रवाल ने दी।      श्री अरविंद अग्रवाल गत 40 वर्षो से सीए के रुप में समाज की सेवा कर रहे थे। वह एक प्रतिष्ठित आयकर कानून लेखक के रुप में भी चर्चित थे। उन्होंने ‘कानूनन करोड़पति बनिए,प्रगति पथ पर बढ़िए’ और ‘आयकर से न डरे’ सहित आयकर संबंधी तीन पुस्तकें सी ए संजय गुप्ता के साथ संयुक्त रुप से लिखी। इसके अतिरिक्त उन्होंने श्रीमद् भागवत को आम आदमी के लिए ‘गोविन्द महिमा’ नाम से सरल भाषा में सारांश रुप में लिखा। यह पुस्तक करीब एक दर्जन संस्करण के साथ लाखों की संख्या में देशभर में पहुंची। 
श्री अरविंद अग्रवाल जनहित चिंतन समिति (रजि.) के संस्थापक अध्यक्ष थे और संस्था के माध्यम से करीब दो दशक से समाज सेवा में लगे थे। उन्होंने रक्तदान शिविर, प्राकृतिक चिकित्सा शिविर, नेत्र शिविर व वृक्षारोपण आदि जनकल्याण के अनेक कार्यक्रम संस्था के माध्यम से आयोजित कराये। उनके निधन पर पद्मश्री भारत भूषण, सहारनपुर के पूर्व मंडलायुक्त व साहित्यकार आर पी शुक्ल, व्यापारी नेता रामराजीव सिंघल, आईआईए के कृष्ण राजीव सिंघल, प्रख्यात चिकित्सक डॉ.सीमा अग्रवाल, साहित्यकार डॉ. वीरेन्द्र आज़म व मनीष कच्छल, भाजपा नेता अमर गुप्ता, नीरज अग्रवाल व अशोक गुप्ता आदि ने दुःख व्यक्त करते हुए इसे समाज की अपूर्णीय क्षति बताया है।