पीएम की अपील पर राजनीति शुरू, इन दिग्गजों ने दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के खिलाफ पूरे देश में जंग जारी है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समय-समय पर देश को संबोधित करते रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने इस बार के संबोधन में देशवासियों से देश में 5 अप्रैल को रात 9 बजे दीया या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने की अपील किया है जिस पर विपक्षी दलों ने अब नए सिरे से राजनीति शुरू कर दिया है।
अभी मैं राजनीति करूं या फिर कोरोना वायरस महामारी को रोकूं- ममता
बता दें कि इस मामले पर अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों की तरफ से प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं। इस कड़ी में अब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल हो गई हैं। सीएम ममता ने इस मामले पर बयान दिया है कि वो प्रधानमंत्री मोदी के मामलों में नहीं पड़ना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि ‘अभी मैं राजनीति करूं या फिर कोरोना वायरस महामारी को रोकूं’।
सीएम ममता बनर्जी ने आगे कहा कि “क्यों आप एक राजनीतिक जंग की शुरुआत करवाना चाहते हैं?” इस मामले पर अपनी राय रखते हुए ममता बनर्जी ने कहा, “जिसे भी प्रधानमंत्री मोदी की बात सही लगती है वो उनकी बात मानें। अगर मुझे सोना होगा तो मैं सोउंगी। यह मामला पूरी तरह से निजी है।”
दरअसल शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच अप्रैल की रात को नौ बजे लोगों से घर की लाइटें बंद कर घर के दरवाजे या बालकनी में नौ मिनट के लिए एक दीया जलाने की अपील की थी। ऐसे में अब इसे लेकर पक्ष और विपक्ष के नेताओं की तरफ से बयान आने लगे हैं। इससे पहले पीएम मोदी की अपील पर जनता कर्फ्यू के दिन शाम को पांच बजे लोगों ने पांच मिनट तक थाली या घंटी बजाई थी। उस समय भी प्रधानमंत्री की इस अपील पर लोगों और नेताओं ने अपनी राय रखी थी।