प्रियंका गांधी का केंद्र सरकार पर हमला, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी राज की याद दिलाता है भाजपा का कृषि बिल

लखनऊ: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि बिल दोनों सदनों में पास हो गया है, लेकिन बिल पर संग्राम जारी है। इस सबसे बावजूद केंद्र की मोदी सरकार कृषि बिल पर अपने पैर पीछे खींचने के लिए तैयार नहीं है। तो वहीं, शुक्रवार 25 सितंबर को भारतीय किसान यूनियन समेत विभिन्न किसान संगठनों सड़कों पर उतर चुके है। इसी बीच, उत्तर प्रदेश की प्रभारी व कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया है।उत्तर प्रदेश प्रभारी व कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार को ट्वीट करते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'किसानों से एमएसपी छीन ली जाएगी। उन्हें कांट्रेक्ट फार्मिंग के जरिए खरबपतियों का गुलाम बनने पर मजबूर किया जाएगा। न दाम मिलेगा, न सम्मान। किसान अपने ही खेत पर मजदूर बन जाएगा। भाजपा का कृषि बिल ईस्ट इंडिया कम्पनी राज की याद दिलाता है।हम ये अन्याय नहीं होने देंगे। #BharatBandh'वहीं, प्रियंका गांधी ने अपने दूसरे ट्वीट कहा कि, 'भाजपा के कृषि बिल के पहले- MSP = किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य  बिल पास हो जाने के बाद- MSP = पूंजीपतियों के लिए मैक्सिमम सपोर्ट इन प्रॉफिट किसान कहां जाएगा?'

मानसून सत्र में पास कराए गए 3 कृषि अध्यादेशों के विरोध में आज किसान आंदोलनरत हैं। पंजाब और हरियाणा में पहले ही रेल रोको आंदोलन चल रहा है। वहीं, उत्तर प्रदेश में भी किसान सड़कों पर उतर चुके है। बाराबंकी में किसान अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन को उतरे। सैकड़ों की संख्या में किसानों ने अयोध्या-लखनऊ हाइवे जाम कर दिया। इस दौरान किसान आन्दोलन में राहगीरों का लम्बा जाम लग गया। हाइवे के दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी लाइनें लग गईं। किसानों के हंगामे को लेकर प्रशासन के हाथ-पांव फूले।