मैदान में हुई इस हरकत के बाद स्टार्क की गेंदों ने उगली थी आग, पत्नी ने किया खुलासा

नई दिल्ली: विश्व कप में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला शुरू होने से पहले यह कयास लगाए जा रहे कि कि पता नहीं इंग्लिश दर्शक डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ के साथ किस तरह का बर्ताव करेंगे। कहीं ऐसा तो नहीं कि स्मिथ-वार्नर को बड़ी तादाद में मौजूद इंग्लिश फैंस के सामने हूटिंग का सामना करना पड़ जाए। इस तरह की आशंकाओं ने कंगारू खेमे को घेर रखा था। इसके दो कारण थे- एक तो यह कि वार्नर-स्मिथ बैन से वापसी के बाद पहली बार अंग्रेज दर्शकों के सामने खेल रहे थे और दूसरी ये कि अंग्रेज लोग कंगारूओं की खिल्ली उड़ाने का कोई भी मौका जाया नहीं करते हैं। 

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच यह मैच लॉर्ड्स के मैदान पर हो रहा था। हमेशा की तरह इस बार भी अंग्रेज दर्शकों ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का मजाक उड़ाना जारी रखा। लेकिन इस बार लगता है कि उन्होंने 'गलत' इंसान से पंगा ले लिया और यह इंसान था मिशेल स्टार्क। जी हां, यह मैच वार्नर-स्मिथ नहीं बल्कि मिशेल स्टार्क को उकसाए जाने के कारण ज्यादा चर्चाओं में आ गया है। और यह उकसाना इंग्लैंड पर ही पलटकर बहुत भारी पड़ा क्योंकि एक अंग्रेज फैन की कथित अभद्र टिप्पणी के चलते स्टार्क ने अपना गुस्सा अपनी तूफानी गेंदबाजी में जाहिर किया जिसकी कीमत इंग्लैंड को बेन स्टोक्स जैसे जमे हुए बल्लेबाज के विकेट के रूप में भी गंवानी पड़ी। यह खुलासा खुद स्टार्क की पत्नी ने किया है। 
आपको बता दें कि स्टार्क ने स्टोक्स सहित कुल चार इंग्लिश बल्लेबाजों को चलता किया था।

स्टार्क के इस प्रदर्शन ने ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड पर शानदार जीत के लिए प्रशस्त कर दिया। आपको बता दें कि स्टार्क की पत्नी ऐलिसा हेली खुद भी एक प्रोफेशनल ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर हैं और ऑस्ट्रेलियाई महिला टीम में विकेटकीपर की भूमिका निभाती हैं। ऐलिसा ने ट्विटर पर इस वाकये का जिक्र किया है जिसके जरिए यह पता चला कि स्टार्क को कैसे एक युवा इंग्लिश समर्थक ने अभद्र बयानबाजी करके उकसाया था और जिसके बाद लॉर्ड्स के मैदान पर सबको स्टार्क का रौद्र रूप देखने को मिला। मिचेल स्टार्क ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए मुकाबले में 8.4 की गेंदबाजी में 1 मेडन फेंकते हुए 43 रन दिए और 4 विकेट झटके। 

इस मुकाबले में इंग्लैंड को 53 रनों के भीतर एक के बाद एक चार झटके लगे। बेन स्टोक्स और जॉस बटलर पारी को संभालने की कोशिश में जुटे थे। पहले बटलर एक खराब शार्ट खेलकर आउट हुए फिर मैच के 37वें ओवर में दुनिया के सबसे घातक गेंदबाज स्टार्क ने इस टूर्नामेंट का सबसे घातक यॉर्कर फेंका और इंग्लैंड के सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। क्रिकेट विश्लेषकों की राय में यह इस विश्व कप का सबसे घातक यॉर्कर था। इस ओवर से ठीक पहले स्टोक्स क्रैंप (उमस की वजह से पैर के नस में खिंचाव) का शिकार हुए थे। सिंगल भागने में उन्हें दिक्कत हो रही थी तब उन्होंने तेज रन बनाने का फैसला लिया। स्टोक्स इस समय 89 रन पर खेल रहे थे और उनके आउट होते ही इंग्लैंड टीम ने ऑस्ट्रेलिया के सामने सरेंडर कर दिया।