35 सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में फेल होने के बाद भी नहीं छोड़ी उम्मीद, हासिल की कामयाबी

नई दिल्ली: आमतौर पर असफलता मनुष्य को निराश कर देती है और जितनी बार बार वह असफल होता है उतनी ही बुरी तरह से उसकी उम्मीद टूटती जाती है। लेकिन यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा में सफलता हासिल करने वाले विजय वर्धन के साथ मानो उलटा ही है। वे बार बार मिल रही असफलताओं को ताकत बनाते चले गए और आज उसका परिणाम सभी के सामने है। लगभग 35 बार सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में फेल होने के बाद विजय को यूपीएससी में 104वीं रैंक मिली।  यूपीएससी की परीक्षा पास करने वाले विजय ने इससे पहले 30 अलग अलग सरकारी नौकरियों की परीक्षा दी जिसमें वे फेल हुए।

इसके अलावा यूपीएससी के लिए उन्होंने 5 अटैंप्ट दिए और अब वे इसे क्वालीफाई कर पाए हैं। विजय इतनी बार फेल होने के बाद भी हारे नहीं और कोशिश करते रहे। मानो उन्हें यकीन था कि आज नहीं तो कल वे परीक्षा जरूर पास करेंगे।  दरअसल विजय साल 2013 में हिसार में इलैक्टॉनिक और कम्युनिकेशन से अपनी इंजीनियरिंग पूरी करके दिल्ली आ गए थे। वे 6 साल तक लगातार तैयारी करते रहे और सरकारी परीक्षाएं देते रहे। वे बार बार फेल होते लेकिन हार नहीं मानते। 2019 तक परीक्षाओं की संख्या 35 जो चुकी थी और सफलता एक भी नहीं लेकिन अब जब 2018 की परीक्षा के परिणाम घोषित हुए को उन्हें 104वीं रैंक के साथ सफलता हासिल हुई। 

विजय ने ग्रेड ए और ग्रेड बी की लगभग सारी परीक्षाएं दे डाली थीं। इसमें यूपी पीसीएसए हरियाणा पीसीएस पंजाब पीसीएसए एसएससी सीजीएल, एलआईसी, नाबार्ड, इसरो, हरियाणा एक्साइज इंस्पैक्टर, आरआरबी एनटीपीसी, आरबीआई ग्रेड बी इत्यादि शामिल थे। यूपीएससी क्वालीफाई कर विजय ने इंडियन पुलिस सर्विसेज आईपीएस को चुना है।