सीएम योगी के सख्त तेवर के बाद बरेली मंडल में 25 पुलिसकर्मियों की सेवाएं समाप्त

बरेली: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इन दिनों काफी सख्त नजर आ रहे हैं। सीएम योगी की सख्ती का असर बरेली मंडल में भी देखने को मिला है। बरेली मंडल में 25 पुलिसकर्मियों की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। दरअसल, सीएम योगी ने ये निर्णय लिया है कि जो पुलिसकर्मी 50 साल की उम्र पूरी कर चुके है और विभाग पर बोझ बने हुए हैं वो बार-बार विभाग की बदनामी करवा रहे हैं, जिससे सरकार की छवि भी खराब हो रही है।  ऐसे पुलिस वाले जो दागदार हैं, भ्रष्टाचार में लिप्त है, नकारा हैं, या उन पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। ऐसे सभी पुलिस वालों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। डीआईजी राजेश कुमार पांडेय ने बताया कि डीजीपी के निर्देश पर स्क्रीनिंग कमेटी ने काफी मंथन के बाद ऐसे 25 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की है।

अनिवार्य सेवा निवर्त्ति के रूप में ऐसे सभी कर्मचारियों को 3 महीने का एडवांस वेतन के साथ रिटायरमेंट की अन्य सभी सुविधाएं भी दी जाएंगी। 
डीआईजी की रेंज स्तरीय कमेटी में सात लोगों के नाम तय किए गए। इनमें फरीदपुर सीओ के स्टेनो का काम देख रहे इंस्पेक्टर ब्रम्हपाल सिंह, बदायू में तैनात दरोगा नेमपाल सिंह, रोहिल हुसैन, विजयपाल सिंह, शाहजहांपुर में तैनात दरोगा अशोक कुमार विश्वकर्मा, सतेंद्र कुमार मलिक और शाहजहांपुर में ही लिपिक वर्ग में तैनात एसएसआई जय किशन के नाम शामिल है। वहीं, एसएसपी ने जिले में 6 पुलिस वालों को नौकरी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इनमें एसआई महेंद्र सिंह, हेड कॉन्स्टेबल शिवकुमार सिंह, कॉन्स्टेबल नन्हकी लाल, प्रीतम सिंह, अयूब खा, और गंगाराम का नाम शामिल हैं।