आनंदीबेन पटेल ने ली यूपी के राज्‍यपाल पद की शपथ

लखनऊ: आनंदी बेन पटेल ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल के तौर पर शपथ ली। लखनऊ राजभवन के गांधी सभागार में पटेल को इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति गोविन्द माथुर ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह में सूबे के गवर्नर राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और कई दूसरे नेता भी मौजूद रहे।  आनंदी बेन पटेल पूर्व में गुजरात की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल बनने से पहले वो मध्य प्रदेश की राज्यपाल थीं। जनवरी 2018 में उन्हें मध्य प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया था। अब उनको उत्तर प्रदेश भेजा गया है। सरोजिनी नायडू यूपी के बाद पटेल उत्तर प्रदेश की दूसरी महिला गवर्नर हैं।

1947 में जब सरोजिनी नायडू राज्यपाल बनी थीं तो उत्तर प्रदेश का नाम यूनाइटेड प्राविंस था। वह इस पद पर 2 मार्च 1949 तक रहीं। ऐसे में देखा जाए तो संविधान लागू होने के बाद आनंदीबेन पटेल यूपी की महिला राज्यपाल हैं। 20 जुलाई को राष्‍ट्रपति भवन की ओर से जारी आदेश के मुताबिक यूपी और बिहार समेत छह राज्‍यों में नए राज्‍यपालों की नियुक्ति की गई है। इसमें मध्‍य प्रदेश की राज्‍यपाल रहीं आनंदीबेन पटेल को यूपी के राज्‍यपाल की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है।

नाइक का राज्यपाल के तौर पर कार्यकाल 22 जुलाई को कार्यकाल खत्म हो गया था। इसी को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्‍यपाल राम नाईक ने रविवार को कहा कि मुझे पद पर बने रहने के लिए 7 दिन का बोनस मिला। मैं आनंदीबेन पटेल का स्‍वागत करके यहां से जाउंगा। इसके बाद वो सोमवार को आनंदीबेन पटेल के शपथ ग्रहण में शामिल हुए। ऐसा रिवाज रहा है कि राज्यपाल नए राज्यपाल की शपथ से पहले ही राजभवन से चले जाते हैं लेकिन नाईक ने इस परंपरा तो तोड़तेे हुए एक नए रिवाज की नींव भी डाली।